रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया. एक संक्षिप्त बयान में उर्जित पटेल ने कहा कि उन्होंने तत्काल प्रभाव से अपना पद छोड़ने का निर्णय किया है.

मुंबई: शिवसेना ने भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के इस्तीफे पर सहयोगी भाजपा पर कटाक्ष करते हुए कहा है कि केंद्र सरकार को केंद्रीय बैंक को अपने नियंत्रण में ले लेना चाहिए. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा, ‘हर कोई इसकी उम्मीद कर रहा था. आखिरकार आज उर्जित पटेल ने इस्तीफा दे दिया.’

उद्धव ठाकरे ने कटाक्ष करते हुए कहा,‘देश के केंद्रीय बैंक के नये प्रमुख की तलाश की बजाए केंद्र सरकार को इस तरह की हर संस्था को अपने नियंत्रण में ले लेना चाहिए.’

पटेल ने सोमवार को दिया इस्तीफा
गौरतलब है कि रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने सोमवार को इस्तीफा दे दिया. हाल में केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता को लेकर उनके और सरकार के बीच तनाव पैदा हो गया था. एक संक्षिप्त बयान में उर्जित पटेल ने कहा कि उन्होंने तत्काल प्रभाव से अपना पद छोड़ने का निर्णय किया है. उन्होंने अपने इस्तीफे का कारण नहीं बताया है.

पटेल आरबीआई के 24वें गवर्नर थे. उन्हें सितंबर 2016 में तीन साल के लिए इस पद पर गवर्नर नियुक्त किया गया था. उन्होंने रघुराम राजन की जगह ली थी.

पटेल के उत्तराधिकारी की तलाश समिति करेगी
केबिनेट सचिव की अध्यक्षता वाली उच्चस्तरीय समिति रिजर्व बैंक के नए गवर्नर की तलाश करेगी. केन्द्रीय बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल के सोमवार को अचानक पद से इस्तीफा देने के बाद उनके उत्तराधिकारी की तलाश के लिये यह समिति बनाई गई है.

समिति के सदस्य जैसे ही नाम का चयन करते हैं उसे प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति को भेज दिया जाएगा. सूत्रों के अनुसार सरकार नये रिजर्व बैंक गवर्नर की नियुक्ति के लिये प्रक्रिया को जल्द ही शुरू करेगी.

कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा की अध्यक्षता वाली वित्तीय क्षेत्र की नियामकीय नियुक्ति खोज समिति में प्रधानमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव पी.के. सिन्हा और तीन अन्य विशेषज्ञ शामिल हैं.  समिति जल्द ही पात्र उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित कर सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here