नई दिल्ली : गुजरात चुनाव में भले ही एड़ी-चोटी के जोर लगाने के बाद भी कांग्रेस सत्ता के आंकड़े से दूर रही हो, मगर बावजूद इसके पार्टी के प्रदर्शन में सुधार हुआ है. यहां पार्टी ने 77 सीटों पर विजय हासिल की थी. आज शनिवार को राहुल गांधी गुजरात का दौरा कर रहे हैं. पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद राहुल का किसी भी राज्य का यह पहला दौरा है. राहुल ने गुजरात पहुंच कर सबसे पहले सोमनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने गुजरात दौरे की शुरुआत सोमनाथ जिले में स्थित सोमनाथ मंदिर के दर्शन के साथ की. राहुल गांधी हाल में संपन्न गुजरात विधानसभा चुनाव में प्रचार के दौरान विभिन्न मंदिरों में दर्शन के लिए गये थे जिनमें सोमनाथ मंदिर भी शामिल था. इस दौरान सोमनाथ में जाने पर एक विवाद भी खड़ा हो गया था.

विवाद की वजह ये थी कि सोमनाथ मंदिर के रजिस्टर में उनका नाम गैर हिंदू वाले कॉलम में दर्ज किया गया था. इस मुद्दे पर खूब राजनीति हुई. आखिर में कांग्रेस को आगे आकर राहुल गांधी को जनेऊधारी पंडित तक कहना पड़ा था. शाम को वे अहमदाबाद के गुजरात विश्वविद्यालय सभागार में पार्टी कार्यकर्ता सम्मेलन में भाग लेंगे. इससे पहले वे अलग-अलग इलाकों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे. इससे पहले शुक्रवार को राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष के तौर पर पहली बार कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक की अध्यक्षता की. बैठक में पार्टी की पूर्व अध्यक्ष व राहुल गांधी की मां सोनिया गांधी और पार्टी के शीर्ष निर्णायक निकाय के सदस्यों ने भाग लिया. कार्यसमिति की बैठक राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के एक सप्ताह के अंदर हुई. बैठक को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने पीएम मोदी और बीजेपी के मॉडल को झूठ का मॉडल करार दिया. उन्होंने कहा कि जिस तरह से प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात चुनाव के आखिरी समय में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और पूर्व सेना प्रमुख जनरल दीपक कपूर समेत कई गणमान्य शख्सियतों पर ऐसे आक्षेप लगाए जो शोभा नहीं देता.

गुजरात चुनाव में भाजपा को बहुमत    
गुजरात विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने लगातार छठी बार जीत हासिल की. 182 विधानसभा सीटों के लिए हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा ने कुल 99 सीटों पर जीत दर्ज की. वहीं कांग्रेस गठबंधन को 80 सीटों पर कामयाबी मिली, यानी सत्तारूढ़ पार्टी से सिर्फ 19 सीटें कम. गुजरात चुनाव के मैदान में भाजपा, कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और भारतीय ट्राइबल पार्टी मुख्य राजनीतिक पार्टियां थीं. राज्य के 182 विधानसभा सीटों के लिए दो चरणों में नौ और 14 दिसंबर को हुए विधानसभा चुनाव की सोमवार (18 दिसंबर) को मतगणना थी.

भारतीय निर्वाचन आयोग के अनुसार, भाजपा को कुल 99 सीटों पर सफलता प्राप्त हुई, जबकि पिछली बार इसे 115 सीटें मिली थीं और इस बार दावा 150 से ज्यादा जीतने का था. कांग्रेस ने 77 सीटें हासिल की. इसकी सहयोगी राकांपा को एक सीट और भारतीय ट्राइबल पार्टी को दो सीटें मिलीं. निर्वाचन आयोग के मुताबिक, विधानसभा चुनाव में तीन निर्दलीय उम्मीदवार विजयी हुए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here