ग्वालियर : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राज्य की महिला मंत्री इमरती देवी के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी कर अपराध किया है और इसके विरोध में वे भोपाल में सोमवार को मौन बैठकर विरोध करेंगे। चौहान ने ग्वालियर में वृंदावन वाटिका में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए यह घोषणा की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री ने अपराध किया है और प्रायश्चित वर्तमान मुख्यमंत्री करेगा। इसके लिए उन्होंने भोपाल में सोमवार को सुबह 10  बजे से 12 बजे तक मौन बैठने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इमरती देवी का अपमान मध्य प्रदेश की एक बेटी का अपमान हैं। यह मध्य प्रदेश की जनता सहन नहीं करेगी। चौहान ने कहा कि वे कमलनाथ को याद दिलाना चाहते हैं कि यह वही भारत है, जहां द्रोपदी का अपमान हुआ था। इसके बाद महाभारत हुआ और एक वंश का विनाश हो गया था। उन्होंने कहा कि कमलनाथ किस घमंड में हैं। उन्होंने कहा कि महिलाओं और नारियों का सम्मान करना हमारी परंपरा है, लेकिन कमलनाथ ने एक महिला का नवरात्र में ही अपमान किया है। चौहान ने तीखे तेवर दिखाते हुए कहा कि कमलनाथ ने आज डबरा में महिला मंत्री का अपमान कर अन्याय की अति कर दी है। ग्वालियर चंबल अंचल की एक बहन का अपमान किया गया है। श्रीमती इमरती देवी गरीब के घर पैदा हुयीं। मजदूरी करने के बाद विधायक और मंत्री बनीं। वे अनुसूचित जाति से हैं। लेकिन गरीब की बेटी का अपमान करने का अधिकार किसी को नहीं है। इसके पहले ग्वालियर जिले के डबरा में कमलनाथ ने आज ही चुनावी सभा में डबरा से भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी श्रीमती इमरतीदेवी के संबंध में टिप्पणियां करते हुए ‘आइटम’ कह दिया। इसके बाद से भाजपा बेहद आक्रामक हो गयी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here