बीजिंग : चीन के प्रीमियर (प्रधानमंत्री) ली केकियांग ने गुरुवार को कहा कि चीन और अमेरिका को अपने मतभेदों का निपटारा करना चाहिए और एक-दूसरे के मूल हितों का सम्मान करना चाहिए। ली ने ट्रंप प्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि दो प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं को प्रभावित करने का कोई भी प्रयास किसी के लिए भी अच्छा नहीं होगा और पूरी दुनिया को इससे नुकसान होगा। बता दें कि फिलहाल अमेरिका और चीन के बीच कई मु्द्दों पर तनाव चल रहा है। इसमें व्यापार के मामले के साथ-साथ कोरोना वायरस महामारी की उत्पत्ति, हांगकांग में बीजिंग की नई सुरक्षा कार्रवाई और विवादित दक्षिण चीन सागर में चीन की आक्रामक सैन्य चाल शामिल हैं। गुरुवार को संसद सत्र के समापन पर होने वाली सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में ली ने यह बात कही।
ली ने कहा, यह सही है कि फिलहाल चीन और अमेरिका के संबंधों में नई समस्याएं और चुनौतियां आई हैं। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के संबंधों में अभी खटास है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो शुरू से ही चीन पर आरोप लगाते आए हैं कि कोरोना वायरस चीन की लैब से निकला है। हालांकि, चीन इन आरोपों को सिरे से नकारता रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here