नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले में तैनात आईटीबीपी के एक जवान ने किसी बात पर साथियों पर फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें 6 जवानों की मौत हो गई, जबकि दो जवान गंभीर घायल हो गए, जिनका रायपुर में इलाज चल रहा है।
स्थानीय सूत्रों के मुताबिक नारायणपुर जिला मुख्यालय से 60 किमी दूर कड़ेनार इलाके में आईटीबीपी के जवानों नक्सल प्रभावित इलाकों में तैनात थे। हालांकि प्रारंभिक सूचना के आधार पर घटना की पुष्टि करते एसपी मोहित गर्ग ने बताया था कि बुधवार की सुबह कैंप में जवानों के बीच आपसी में गोलीबारी होने से छह जवानों की मौके पर मौत हो गई है। जांच में यह भी पता चला है कि कि आपसी फायरिंग में नहीं, बल्कि सिर्फ एक ही जवान की फायरिंग में सभी जवानों की मौत हुई है। बाद में फायरिंग करने वाले जवान रहमान ने भी खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सूत्रों से जानकारी मिली है कि मरने वाले जवानों में शामिल कॉन्सेबल मसुदुल रहमान ने ही गुस्से में आकर फायरिंग शुरू की, जिसमें सभी जवान मारे गए। आखिर में रहमान ने खुद को भी गोली मार ली। एंटी नक्सल ऑपरेशन के एआईजी देवनाथ ने बताया कि जवान ने अपनी एके-47 से साथी जवानों पर गोली चलाई है। गोली चलाने वाला जवान भी मारा गया है। गोली चलाने के कारणों की जांच की जा रही है। उस समय की परिस्थितियों को देखने के बाद ही बताया जा सकता है कि जवान ने क्यों गोली चलाई। घायल जवानों को रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में लाया गया है।
मरने वाले जवानों के नाम
– हेड कॉन्सटेबल महेंद्र सिंह, निवासी ग्राम संदियार, जिला बिलासपुर, हिमाचल प्रदेश
– हेड कॉन्सटेबल दलजीत सिंह, निवासी ग्राम जागपुर, जिला लुधियाना, पंजाब
– कॉन्सटेबल मसुदुल रहमान, निवासी ग्राम बिलकुमरी, जिला नादिया, पश्चिम बंगाल
– कॉन्सटेबल सुरजीत सरकार, निवासी ग्राम नॉर्थ श्रीरामपुर, जिला बर्दवान, पश्चिम बंगाल
– कॉन्सटेबल बिश्वरूप महतो, निवासी ग्राम खुरमुरा, जिला पुस्र्लिया, पश्चिम बंगाल
– कॉन्सटेबल बिजेस, निवासी ग्राम इरावाट्टोर, जिला कोझिकोड, केरल
घायल जवान
– कॉन्सटेबल उल्लास, निवासी ग्राम पुलिमठ, जिला तिरूअनंतपुरम, केरल
– कॉन्सटेबल सीता राम दून, निवासी ग्राम नायाबास, जिला नागौर, राजस्थान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here