नई दिल्ली। कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में इस समय लॉकडाउन लागू किया गया है। केंद्र और राज्य सरकारों ने लोगों से जन समूह न बनाने की अपील की है। इसके साथ ही धार्मिक स्थलों को भी बंद कर दिया गया है और नियमों को न मानने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी की जा रही है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य सरकारों की अपील को अनसुना करते हुए कुछ लोग बेखौफ से नियमों को तोड़ते नजर आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला कर्नाटक से सामने आया है। कर्नाटक सरकार ने प्रदेश के लोगों की अपील की है कि वह लॉकडाउन के दौरान घरों से बाहर ना निकलें और धार्मिक स्थानों पर भी ना जाएं। लेकिन हाल ही में कर्नाटक के बेलगाम का एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है जिसमें कुछ मुस्लिम लॉकडाउन के नियमों को तोड़ते हुए मस्जिद में नमाज के लिए इकट्ठा हुए हैं। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कैसे लोग एक छोटी सी मस्जिद से सैंकड़ों की संख्या में बाहर निकल रहे हैं। दरअसल, मामला उस समय का है जब बेलगाम में स्थित एक मस्जिद में लोग नमाज अदा करने के लिए इकट्ठा हुए। जब इस बात की जानकारी पुलिस को लगी तो वह पहले से ही मस्जिद के बाहर लोगों का इंतजार करने लगी। जब नमाज अदा कर लोग बाहर निकले तो पुलिस ने उन पर लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने के चलते डंडे बरसाने शुरू कर दिए। इस दौरान एक पुलिस वाला यह सब अपने मोबाइल में कैद कर रहा था। वीडियो में देखा जा सकता है कि पिटाई से बचने के लिए लोग अपनी चप्पलें छोड़कर वहां से भाग रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की थी ये अपील : बता दें कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लॉकडाउन की घोषणा करते समय जनता से बार-बार एक ही अपील की थी कि वह अपने घर से बाहर ना निकलें और सरकारी दिशानिर्देशों का पालन करें। लेकिन कुछ लोगों को ना तो सरकार का खौफ है और ना ही कोरोना वायरस का। ऐसे लोग खुलेआम लॉकडाउन के नियमों को तोड़ रहे हैं और लोगों के संपर्क में भी आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here