नई दिल्लीः 16 दिसंबर 2012 की वो दिल दहलाने वाली दर्दनाक रात में निर्भया के साथ जो दरिंदगी हुई, उसे आज तक देश भूल नहीं पाया है। निर्भया के दोषी जेल में सजा तो काट रहे हैं, लेकिन उन्हें फांसी की सजा दिए जाने की मांग ्भी भी बरकरार है और देश बी चाहता है कि निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा हो। ऐसे में जानकारी सामने आई है कि निर्भया को दोषियों को 16 दिसंबर को ही फांसी पर लटकाया जाएगा और उनको उनकी बनती सजा दी जाएगी। सूत्रों और मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो निर्भया के दोषियों की दया याचिका खारिज होने के बाद उनकी फांसी की सजा दी जाएगी और इसके लिए तारीख भी तय कर ली गई है, हालांकि अभी तक जेल प्रशासन की तरफ से इस बात की कोई पुष्टि नहीं की गई है। लेकिन सूत्रों का कहना है कि फांसी की तारीख लगभग तय है। तिहाड़ प्रशासन को सिर्फ जल्लाद मिलने की तलाश है। निर्भया से दुष्कर्म और हत्या के जुर्म में मौत की सजा पाए तिहाड़ में बंद दोषियों को फांसी के लिए अधिकारियों को जल्लाद नहीं मिल रहा है। सूत्रों ने बताया कि इसलिए अधिकारी जल्लाद की तलाश में देश की अन्य जेलों के चक्कर काट रहे हैं। गौरतलब है कि 16 दिसंबर 2012 को निर्भया के साथ छह दरिंदों ने चलती बस में गैंगरेप किया था। छह में से एक दोषी नाबालिग था जो अब छूट चुका है और गुमनामी की जिंदगी बिता रहा है। वहीं एक आरोपी रामसिंह ने तिहाड़ में ही आत्महत्या कर ली थी। अब सात साल बाद बाकी बचे चार दोषियों को जल्द ही फांसी की सजा हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here