नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को विजयदशमी के दिन शस्त्र पूजन कार्यक्रम पर फ्रांस जाकर राफेल विमान का शस्त्र पूजन करेंगे। इसके लिए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह फ्रांस की राजधानी पेरिस के लिए निकल चुके हैं। राजनाथ सिंह 3 दिन की फ्रांस यात्रा पर निकले हैं और इस दौरान वह सालाना कार्यक्रम डिफेंस डायलॉग में भाग लेंगे तथा राफेल विमान विमान के प्रवेशन समारोह मे भी हिस्सा लेंगे। फ्रांस यात्रा पर निकलने से पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट संदेश में लिखा कि हाल के वर्षों में भारत और फ्रांस के रिश्तों में तेजी से प्रगति हुई है और अपनी यात्रा के दौरान इन संबंधों को और मजबूत करने का प्रयास करूंगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह दशहरा के अवसर पर मंगलवार को पेरिस में पहला राफेल लड़ाकू विमान प्राप्त करने के बाद ‘शस्त्र पूजा’ करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि विजयदशमी के दिन ही फ्रांसीसी पोर्ट बोर्डेक्स पर सिंह पहला राफेल विमान स्वीकार करेंगे। उन्होंने बताया कि पूजा करने के बाद सिंह राफेल में उड़ान भर उसका अनुभव भी लेंगे। सिंह वर्षों से ‘शस्त्र पूजा’ करते आ रहे हैं। पूर्ववर्ती राजग सरकार में गृहमंत्री रहते हुए भी वह शस्त्र पूजा करते थे। शस्त्र पूजा या आयुध पूजा में अस्त्र-शस्त्र की पूजा की जाती है। विजयदशमी और भारतीय वायुसेना के स्थापना दिवस पर वह पहला राफेल लड़ाकू विमान स्वीकार करेंगे। अधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को बोर्डेक्स के मेरीगनैस सबअर्ब पर पहला राफेल लड़ाकू विमान प्राप्त करने के बाद सिंह शस्त्रपूजा करेंगे। पूजा करने के बाद वह विमान में उड़ान भरेंगे। मंगलवार की सुबह बोर्डेक्स के लिए रवाना होने से पहले सिंह पेरिस में फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों से मिलेंगे। दोनों के बीच रक्षा एवं सुरक्षा मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है। सिंह को राफेल सौंपने का कार्यक्रम पेरिस से करीब 590 किलोमीटर दूर विमान की निर्माता कंपनी दसाल्ट एविएशन के संयंत्र में है। हालांकि 36 विमानों में से पहला विमान रक्षा मंत्री को मंगलवार को ही मिल जाएगा लेकिन चार विमानों की पहली खेप अगले वर्ष मई में भारत पहुंचेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here