नई दिल्ली। कोरोना संकट को देखते हुए रिजर्व बैंक के द्वारा ईएमआई न लेने पर बैंकों को छूट का ऐलान करने के बाद सरकारी बैंकों ने अपने अपने ग्राहकों तक राहत पहुंचानी शुरू कर दी है। अधिकांश बैंक ने मार्च की ईएमआई को जून में लेने की बात कही हैं हालांकि कुछ बैंको ने ईएमआई की विकल्प रखा है। यानि अगर कोई ईएमआई का भुगतान करता रहना चाहता है तो वो भुगतान कर सकता है। सबसे पहले स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 1 मार्च 2020 से 31 मई 2020 के बीच में पड़ने वाली सभी टर्म लोन की ईएमआई को 3 महीने आगे के लिए टाल दिया है। यानि मार्च की ईएमआई जून में ली जाएगी। इसके साथ ही पंजाब एंड सिंध बैंक ने भी तीन महीने की ईएमआई आगे टाल दी है। आईडीबीआई बैंक ने भी 3 महीने के लिए ईएमआई टाल दी है, हालांकि बैंक ने ऐसे ग्राहकों को ईएमआई जारी रखने का विकल्प दिया है जो इस दौरान ईएमआई चुका सकते हैं। केनरा बैंक ने 3 महीने की राहत के साथ स्वयं सहायता समूह को बिना कलेटरल और मार्जिन के 20 लाख तक कर्ज देने की बात भी कही है। आंध्रा बैंक ने टर्म लोन की 3 महीने की ईएमआई के साथ क्रेडिट कार्ड के बकाये में भी राहत दी है। वहीं इंडियन बैंक, यूको बैंक, सिंडिकेट बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, ओबीसी, पंजाब नेशनल बैंक इलाहाबाद बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, यूनियन बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक ने भी 1 मार्च से लेकर 31 मई 2020 के बीच की ईएमआई को जून तक टालने का फैसला लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here