श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में भारत-पाकिस्तान सीमा के पास पुलिस को एक कबूतर मिला है। कबूतर के पैर में एक रिंग भी बंधी है, जिसपर एक नंबर लिखा हुआ है। पुलिस उस नंबर की पड़ताल में जुटी हुई है। हालांकि यह बता पाना मुश्किल है कि कबूतर कहां से उड़ कर आया है।स्थानीय एसएसपी शैलेंद्र मिश्रा ने बताया, ‘एक कबूतर को कोठुआ के इंडो-पाक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के पास पाया गया। अब ये कहां से उड़ के आया, ये तो पता नहीं, लेकिन इसके पैर में एक रिंग मिली है। रिंग पर नंबर लिखा है। फिलहाल हम जांच कर रहे हैं और पता लगा रहे हैं कि इस नंबर का कोई मतलब है या नहीं?’ एक कबूतर को कोठुआ के इंडो-पाक अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के पास पाया गया।SSP शैलेंद्र मिश्रा(कोठुआ)ने बताया,’अब ये कहां से उड़ के आया ये तो पता नहीं लेकिन इसके पैर में एक रिंग मिली है,रिंग में नं. लिखा है फिलहाल हम जांच कर रहे हैं और पता लगा रहे हैं कि इस नं.का कोई मतलब है या नहीं? उन्होंने बताया कि कबूतर कूट भाषा वाला एक संदेश लिये हुए था। पाकिस्तान से उसके इस ओर उड़ कर आने के शीघ्र बाद हीरानगर सेक्टर में मनयारी गांव के बाशिंदों ने पकड़ लिया। अधिकारियों ने बताया कि संबद्ध सुरक्षा एजेंसियां कूट भाषा में लिखे गये इस संदेश को पढ़ने और समझने की कोशिश कर रहे हैं। आपको बता दें कि भारत-पाकिस्तान सीमा पर अक्सर ऐसे कबूतर और ड्रोन नजर आते हैं। दुश्मनों के द्वारा जासूसी की कोशिश की जाती है, जिसमें वे असफल रहते हैं। सुरक्षाबलों की मुस्तैदी से इस नापाक हरकतों पर पानी फिर जाता है। बीते साल की बात करें तो पंजाब के हुसैनीवाला सेक्टर में तैनात बीएसएफ जवानों ने भारत-पाकिस्तान सीमा पर तीन ड्रोन देखे गए थे। इसके बाद बीएसएफ ने गोलीबारी कर तीनों ड्रोने को पाकिस्तान की तरफ वापस खदेड़ दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here