नई दिल्ली। चीन से और भारतीयों को वापस लाने के लिए भारतीय वायु सेना का विमान भेजने में हो रही देरी पर आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि पड़ोसी मुल्क जानबूझकर मंजूरी देने में देरी कर रहा है। चीन से और भारतीयों को वापस लाने के लिए भारतीय वायु सेना का विमान भेजने में हो रही देरी पर आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि पड़ोसी मुल्क जानबूझकर मंजूरी देने में देरी कर रहा है। चीन ने राहत सामग्री लेकर जाने वाले विमान को अभी मंजूरी नहीं दी, जो वुहान से और भारतीयों को वापस भी लाएगा। चीन कह रहा है कि कोई देरी नहीं है लेकिन बिना कोई स्पष्ट कारण बताए मंजूरी नहीं दी गई। यह जानकारी सूत्रों ने भारतीय वायु सेना के विमान को वुहान भेजने में हो रही देरी पर दी है। भारत ने वुहान से भारतीयों को वापस लाने के लिये विशेष विमान भेजने को लेकर 13 फरवरी को चीन से अनुरोध किया था, जिसे अभी तक मंजूरी नहीं मिली है। जापान, यूक्रेन और फ्रांस की उड़ानों को 16 से 20 फरवरी के बीच संचालन की अनुमति दी गई थी, लेकिन भारत के अनुरोध को अभी तक मंजूरी नहीं मिली है। भारत के विमान भेजने के अनुरोध को चीन की मंजूरी नहीं मिलने पर आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि भारत के तीन नागरिक वुहान से वापस घर लौटने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। वुहान में फंसे भारतीय वहां से वापसी पर अनिश्चतता के कारण चिंता और मानसिक तनाव का शिकार हो रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here