भोपाल. मध्यप्रदेश में 4 दिन से जारी सियासी ड्रामे के बीच शुक्रवार को कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह मुख्यमंत्री कमलनाथ से मिलने उनके आवास पर पहुंचे। वे कांग्रेस विधायक हरदीप सिंह डंग के इस्तीफे के बाद पार्टी की रणनीति पर चर्चा के लिए आए थे। इसके तहत कमलनाथ ने सभी विधायकों को भोपाल बुलाया और उन्हें राजधानी न छोड़ने की हिदायत भी दी है। सीएम के अवास पर ही कैबिनेट की मीटिंग भी बुलाई गई थी। इसमें बसपा विधायक रामबाई भी मौजूद थीं। बताया जा रहा है कि बैठक में मंत्रिमंडल विस्तार पर चर्चा की गई। इसमें लंबे अरसे से मंत्रिमंडल में शामिल किए जाने की बात कह रही रामबाई को मंत्री बनाया जा सकता है। कैबिनेट मीटिंग और दिग्विजय से मुलाकात के बाद कमलनाथ ने कहा- यहां के नेता बिकाऊ नहीं हैं, वे सिद्धांतों और सेवा की राजनीति करते हैं। उधर, कांग्रेस की रणनीति का जवाब देने के लिए दिल्ली में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के आवास पर मध्य प्रदेश को लेकर भाजपा नेताओं की बैठक चल रही है। इसमें शिवराज सिंह चौहान, नरोत्तम मिश्रा, प्रह्लाद पटेल, धर्मेंद्र प्रधान और गोपाल भार्गव मौजूद हैं। इस बीच, 3 दिन से लापता निर्दलीय विधायक शेरा ने कमलनाथ से फोन पर बातचीत की। वे बेंगलुरु से भोपाल वापस आ रहे हैं और मुख्यमंत्री से मिलेंगे। ‘लापता’ विधायकों के भोपाल पहुंचने की संभावना : पिछले तीन-चार दिनों से लापता चार विधायकों के शनिवार सुबह तक भोपाल पहुंचने की संभावना है। बताया गया है कि ये विधायक बेंगलुरु के रिजॉर्ट में हैं। कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि तीन कांग्रेस विधायक बिसाहूलाल सिंह, रघुराज कंसाना और हरदीप सिंह डंग के अलावा राज्य सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक सुरेंद्र सिंह शेरा से कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं का संपर्क हो गया है। विधायकों को भोपाल लाने की कवायद शुरू हो गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here