भोपाल. राजधानी में कोरोना प्रोटोकाॅल का पालन नहीं होने पर जिला प्रशासन ने सख्ती बरतना शुरू कर दिया है। एमपी नगर जोन-1 की 10 दुकानों को सील किया है। यहां सोशल डिस्टेसिंग और ऑनलॉक-2 की गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा था। एडीएम ने खुद मौके पर पहुंचकर कार्रवाई की। अब यह दुकानें अगले 3 दिन तक नहीं खुल सकेंगी। इस संबंध में भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया ने पहले ही आदेश जारी कर दिए थे। इसमें साफ कहा गया था कि अगर कोई भी सोशल डिस्टेसिंग या नियमों का पालन नहीं करता है, तो उस दुकान को तीन दिन के लिए सील कर दिया जाएगा। प्रशासन की इस कार्रवाई से दुकानदारों में नाराजगी भी नजर आई। उन्होंने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि एमपी नगर में सीट कवर की दुकानों को लेकर काफी शिकायतें आ रही थी। यहां पर भीड़ होने पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं किया जा रहा था। ऐसे में मंगलवार दोपहर जिला प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची। इस दौरान एडीएम आशीष वशिष्ट, एसपी साईं कृष्णन और एसडीएम आकाश श्रीवास्तव भी मौजूद रहे। पुलिस ने तत्काल सभी दुकानों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें बंद करवा दिया। इसके बाद एक-एक दुकान पर सरकारी आदेश भी चस्पा कर दिया गया। दुकानदारों का आरोप था कि सभी मास्क पहनकर कार्य कर रहे थे। बिना किसी पूर्व सूचना के यह कार्रवाई की गई है। भोपाल में शनिवार-रविवार पहले से ही बंद : भोपाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दुकानें और अन्य ऑफिस सिर्फ सोमवार से शुक्रवार तक ही खुल सकते हैं। रविवार और शनिवार को सब कुछ बंद करने के निर्देश हैं। अब रविवार को तो पूरी तरह लॉकडाउन होने से बिना कारण लोग भी घर से नहीं निकल सकते हैं। अधिकारियों का कहना है कि यह कार्रवाई शिकायत मिलने के बाद की गई है। दुकानदारों ने नारेबाजी तक की : प्रशासन की कार्रवाई के खिलाफ दुकानदारों में गुस्सा भी दिखा। व्यापारियों ने आरोप लगाए कि बिना किसी पूर्व सूचना के प्रशासन ने यह कार्रवाई की है। उनका कहना था कि इस दौरान सभी दुकानदार और कर्मचारी मास्क पहनकर काम कर रहे थे। इसके साथ ही दुकानदारों ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here