बरसात, आन, दाग, अमर, उड़न खटोला, बसंत बहार, मेरे महबूब आदि निम्मी की यादगार फिल्मों में से एक हैं. निम्मी को हीरोइन के बाद दूसरा सबसे प्रमुख किरदार निभाने के लिए जाना जाता था.

मुंबई: ‘आन’, ‘बरसात’ और ‘दीदार’ जैसी हिंदी फिल्मों में काम कर चुकीं 1950 और 60 के दशक की मशहूर अभिनेत्री निम्मी का बुधवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वह 88 वर्ष की थीं. उनके परिवार के सूत्रों ने बताया कि अभिनेत्री को सांस लेने में दिक्कत होने के बाद उपनगरीय जुहू अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनकी शाम को मृत्यु हुई. निम्मी का बृहस्पतिवार को मुंबई में अंतिम संस्कार कर दिया गया. महबूब ख़ान की आन (1952), दाग (1952), अमर (1954), उड़न खटोला (1955), बसंत बहार (1956) और मेरे महबूब (1963) उनकी यादगार फिल्मों में से एक हैं. उनका असली नाम नवाब बानो था और निम्मी नाम फिल्म निर्माता राज कपूर ने दिया था, जिन्होंने अपनी फिल्म अंदाज़ के सेट पर एक शर्मीली किशोरी के रूप में निम्मी को पहली बार देखा. साल 1949 में राज कपूर ने निम्मी को अपनी फिल्म बरसात में सेकेंड लीड के बतौर कास्ट किया था. फिल्म के तीन गाने बरसात में हमसे मिले तुम…, हवा में उड़ता जाए… और मेरी पतली कमर… काफी प्रसिद्ध हुए. ये तीनों ही गाने निम्मी पर फिल्माए गए थे. निम्मी के निधन पर अभिनेता ऋषि कपूर ने कहा, ‘बॉबी फिल्म की रिलीज पर आपके आशीर्वाद और प्यार के लिए धन्यवाद निम्मी आंटी. आप राजकपूर परिवार का हिस्सा थीं. बरसात आपकी पहली फिल्म थी. अल्लाह आपको जन्नत नसीब करे, आमीन.’ बरसात फिल्म की सफलता के बाद निम्मी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अपने ज़माने में वह हीरोइन के बाद दूसरा सबसे प्रसिद्ध किरदार करने के लिए जानी जाती थीं. बदकिस्मत प्रेमिका और गांव की खूबसूरत युवती के किरदारों के जरिये ने उन्होंने खुद को बॉलीवुड में स्थापित किया था. अपने जमाने में उनकी प्रसिद्धि इतनी थी कि फिल्म आन के डिस्ट्रिब्यूटर ने उनको लेकर एक सीन अलग से जुड़वाया था, क्योंकि उन्हें लगा कि फिल्म में निम्मी के किरदार की जल्दी मौत हो जाती है. विलियम शेक्सपीयर के नाटक ‘टेमिंग ऑफ द श्य्रु’ पर आधारित इस फिल्म में नादिया और दिलीप कुमार मुख्य भूमिकाओं में थे. निम्मी ने गांव की लड़की मंगला का किरदार निभाकर दर्शकों के मन में अपनी छाप छोड़ दी थी. यह फिल्म अंग्रेजी में ‘सेवेज प्रिंसेस’ नाम से इंग्लैंड और फ्रांस में ‘मंगला, फिले देस इंडिस’ (मंगला भारत की बेटी) नाम से रिलीज हुई थी. निम्मी ने अपनी जमाने के शीर्ष अभिनेताओं राज कपूर, दिलीप कुमार, देव आनंद और अशोक कुमार के साथ फिल्म सज़ा, आन, उड़न खटोला, भाई भाई, कुंदन, मेरे महबूब, पूजा के फूल, आकाशदीप, लव एंड गॉड जैसी फिल्मों में काम किया था. लव एंड गॉड उनकी आखिरी फिल्म थी. लेखक और निर्देशक एस. अली से शादी करने के लिए उन्होंने फिल्मों से अलविदा कह दिया था. एस. अली का निधन साल 2007 में हुआ था. अभिनेता दिलीप कुमार के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट की ओर से एक ट्वीट कर कहा गया है कि सायरा बानू की ओर से संदेश, ‘प्यारी निम्मी जी का निधन को दिलीप साहब और मैं निजी क्षति के तौर पर महसूस कर रहे हैं.’ एक अन्य ट्वीट में कहा गया है, ‘निम्मी जी मेरी बड़ी थी. उन्होंने हमेशा दिलीप साहब और मुझसे प्रगाढ़ संबंध बनाए रखा. मैंने उर्दू में उनके सुंदर, प्रेमपूर्ण और हाथ से लिख उन्हें पत्रों को पढ़ा है.’ एक अन्य ट्वीट के अनुसार, ‘निम्मी जी ने मेरी मां नसीम बानू के साथ अच्छा समय गुजारा है. अपने पति और मां के जरिये मैंने उनके साथ अपना रिश्ता जोड़ लिया था. उनके जैसी शख्सियत बहुत दुर्लभ होती है. निम्मी जी को याद किया जाएगा. अल्लाह उनको जन्नत नसीब करे. इन बातों को फैसल फ़ारूक़ी (दिलीप कुमार का ट्विटर एकाउंट चलाने वाले) को बताते हुए मेरी आंखों में आंसू हैं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here