भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बीच 31 मई के बाद भी संक्रमित क्षेत्रों में छूट नहीं दी जाएगी। उल्लेखनीय है कि देश में जारी लॉकडाउन का चौथा चरण पूरा होने जा रहा है। 31 मई को लॉकडाउन की अवधि खत्म होना है। इस बारे में सूत्रों ने बताया कि मध्य प्रदेश सरकार 31 मई के बाद भी लॉकडाउन को बरकरार रखने के पक्ष में है। इसमें संक्रमित क्षेत्रों में किसी प्रकार की छूट नहीं दी जाएगी। रात सात से सुबह सात बजे तक कर्फ्यू फिलहाल बरकरार रहेगा। संक्रमित क्षेत्रों के बाहर लोक परिवहन सीमित मात्रा में सावधानियों के साथ शुरू किया जा सकता है। सिनेमाघर, रेस्टोरेंट, मॉल, होटल, कोचिंग संस्थान, शैक्षणिक संस्थान और भीड़-भाड़ वाली जगहों पर प्रतिबंध यथावत रहेंगे। नीमच जिले के जावद में तीन दिन का कर्फ्यू : नीमच जिले के जावद में 34 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आने पर संक्रमण फैलने के खतरे को देखते हुए सरकार ने वहां तीन दिन के लिए जनता कर्फ्यू लगा दिया है। इस दौरान जावद पूरी तरह से सील रहेगा। न तो किसी को वहां आने की अनुमति रहेगी और न ही जाने की। यह निर्णय मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को कोरोना की समीक्षा के दौरान लिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि संक्रमित क्षेत्रों में पूरी तरह सावधानी बरती जाए। इसमें लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। तीन दिन बाद इसकी फिर समीक्षा होगी और इसके बाद आगे का निर्णय लिया जाएगा।उल्लेखनीय है कि बुधवार को ही जावद एसडीएम को निलंबित करने के निर्देश दिए गए थे। गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि जावद में तीन परिवार के 100 लोग हैं। इनमें 34 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। यह सभी परिवार सब्जी का काम करते हैं। स्थितियों को देखते हुए जनता कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया है। अब तीन दिन तक किसी को भी घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं रहेगी। उन्होंने लोगों से अपील भी की कि इतना बड़ा संक्रमण फैलता है और कोई सूचना नहीं देता है, यह गंभीर लापरवाही है। गुरुवार को 193 पॉजिटिव प्रकरण सामने आए हैं। इनमें 34 जावद के भी शामिल हैं। कोरोना से संक्रमितों के स्वस्थ होने की दर देश में सर्वाधित 54.3 प्रतिशत मध्यप्रदेश में हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here