नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस का खतरा अब भी बना हुआ है। जहां एक तरफ नए कोरोना स्ट्रेन ने लोगों के मन में डर पैदा कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ कोरोना वायरस अब भी लोगों की जान ले रहा है, पिछले 24 घंटों में देशभर में कोरोना के 16,946 नए मामले सामने आए हैं। राहत की बात ये है कि कोरोना मामलों की संख्या में गिरावट देखने को मिल रही है। देश में कोरोना के कुल मामलों की संख्या ,05,12,093 हो गई है। वहीं अगर देशभर में कोरोना से मरने वाले लोगों की बात करें तो बीते 24 घंटों में 198 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। जिसके बाद देशभर में नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,51,727 हो गई है। देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या अब 2,13,603 है और कुल डिस्चार्ज हुए मामलों की संख्या 1,01,46,763 है। भारती य चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के वैज्ञानिक कोवैक्सीन का परीक्षण कोरोना के नए प्रकार बी.1.1.7 पर अध्ययन कर रहे हैं। ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह टीका तेजी से फैलने वाले इस नए प्रकार पर असरदार है या नहीं। कोरोना के तैयार हो चुके टीकों को लेकर हालांकि वैज्ञानिकों की तरफ से उम्मीद जाहिर की गई है कि नए प्रकार पर भी ये प्रभावी होंगे लेकिन इन दावों की वैज्ञानिक पुष्टि अभी नहीं हुई है। नेचर जर्नल में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार आईसीएमआर के वैज्ञानिकों ने इस पर कार्य शुरू कर दिया है। इस रिपोर्ट में आईसीएम आर की वैज्ञानिक निवेदिता गुप्ता के हवाले से कहा गया है कि जिन लोगों को कोवैक्सीन दी गई है, उनके एंटीबाडीज की जांच की जा रही है और यह देखा जा रहा है कि वह नए प्रकार का मुकाबला करने में समक्ष हैं या नहीं। इसके नतीजे अभी पता नहीं चले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here