नई दिल्ली। कोरोना के संक्रमण ने भारत को अपनी चपेट में ले लिया है। अब तक इस महामारी ने देश में जहां 169 लोगों की जान ले ली है, वहीं COVID-19 से मध्य प्रदेश में 16 लोगों की मौत हो गई है। एमपी में कोरोना संक्रमण से मृत्यु दर 7.5 प्रतिशत है, जो राष्ट्रीय स्तर पर इस महामारी से मृत्यु दर (करीब सवा तीन प्रतिशत) से दोगुनी से भी अधिक है। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, आज कोरोना वायरस संक्रमण से 25 लोगों की मौत हुई है, इसके साथ ही राज्य में कोविड-19 से मरने वालों की संख्या 97 पहुंच गई है। हालांकि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक यह आंकड़ा 72 ही है। बिहार की बात करें तो अभी तक एक कोरोना पॉजिटिव की राज्य में मौत हुई है। आईसीएमआर के आंकड़ों से तुलना करने पर भी राज्य में कोरोना से मृत्यु दर राष्ट्रीय मृत्यु दर से 4.7 प्रतिशत अधिक है। मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग द्वारा बुधवार रात जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने यहां मंत्रालय में हुई बैठक में महामारी की स्थिति एवं रोकथाम की व्यवस्थाओं को लेकर समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए कि संक्रमितों के उपचार की सर्वोत्तम व्यवस्था सुनिश्चित की जाए, जिससे कोरोना संक्रमण से मृत्यु दर को न्यूनतम किया जा सके। शिवराज ने निर्देश दिए कि जो भी व्यक्ति कोरोना को छिपाए, उसके विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जाए और इलाज के बाद उसके विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की जाए।
इंदौर में 62 वर्षीय डॉक्टर की मौत
मध्य प्रदेश के इंदौर में कोरोना की चपेट में आने से 62 वर्षीय डॉक्टर की गुरुवार सुबह मौत हो गई। यह प्रदेश में संक्रमण से किसी डॉक्टर की मौत का संभवतः पहला मामला है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया ने बताया कि जनरल फिजिशियन ने एक निजी अस्पताल में आखिरी सांस ली। वे कोरोना संक्रमित पाए गए थे।
कोरोना से मौत के राज्यों के आंकड़ों पर एक नजर
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से शाम सात बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक, महाराष्ट्र में अभी तक 72 लोगों की जान गई है। इसके अलावा गुजरात और मध्य प्रदेश में 16-16 लोगों की जान गई है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में नौ, पंजाब में आठ, तेलंगाना में सात, पश्चिम बंगाल और कर्नाटक में पांच-पांच, आंध्र प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में चार-चार लोगों की जान गई है।
कोरोना संक्रमण के राज्यों के आंकड़े पर एक नजर
कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बात करें तो सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 1135 है। इसके अलावा तमिलनाडु में 738, दिल्ली में 669, तेलंगाना में 442, उत्तर प्रदेश में 410 राजस्थान में 383, आंध्र प्रदेश में 348 और मध्य प्रदेश में 259 मामले हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here