भोपाल. प्रदेश सरकार 14 अप्रैल को खत्म हो रहे लॉक डाउन को 21 दिन और बढ़ा सकती है। इस दौरान ग्रामीण इलाकों में किसानों को कुछ शर्तों के साथ छूट दी सकती है। प्रदेश की सभी शिक्षण संस्थाएं 15 मई तक बंद रहेंगी। लोगों को किसी बात की परेशानी नहीं हो इसी लिए सरकार ने एस्मा (अत्यावश्यक सेवा अनुरक्षण कानून) लागू किया है। इस कानून के तहत लोगों को उनकी जरुरत की हर वस्तु उपलब्ध कराने की व्यवस्था की जाएगी। लॉक डाउन को 21 दिन और बढ़ाने का फैसला 11 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बीच होने वाली वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद लिया जाएगा। 11 अप्रैल की रात को ही इसकी घोषणा कर दी जाएगी। संभावना ये भी संक्रमण और नहीं फैले इसके लिए सरकार भीलवाड़ा मॉडल प्रदेश में लागू कर सकती है। प्रदेश लॉक डाउन को बढ़ाने का निर्णय 11 अप्रैल को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के बीच होने वाली बातचीत के बाद लिया जा सकता है। इसके लिए योजना बनाने के निर्देश मुख्यमंत्री ने दिए हैं। बताया जा रहा है कि लॉक डाउन शहरी क्षेत्रों में लॉक डाउन का पालन और सख्ती से कराया जाएगा। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों और किसानों को इसमें कुछ छूट शर्तों के साथ दी जाएगी। जिससे किसान अपनी फसल को आसानी से काट और बेच सके। इससे पहले सरकार जरूरत के सामान की आपूर्ति सामान्य करेगी। अभी कई स्थानों पर स्टाक खत्म होने की जानकारी मिल रही है। दो-तीन दिन के अंदर प्रदेश के हर जिले में जरूरी सामान की आपूर्ती की जाएगी, जिससे की लोगों को परेशान नहीं होना पड़े।
15 मई तक बंद रहेंगे स्कूल
जानकारी के अनुसार स्कूल-कॉलेज सहित अन्य शिक्षण संस्थाएं 15 मई तक बंद रहेंगे। सरकारी कैलेंडर के अनुसार 15 मई के बाद स्कूलों में 15 जून तक अवकाश रहता है। ऐसी स्थिति में अब स्कूल 15 जून तक ही स्थिति सामान्य होने पर खुलेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here