बालाघाट :  कोरोना के संक्रमण से बचाव और सुरक्षा उपाय अपनाने के लिए कलेक्टर बालाघाट दीपक आर्य ने रात्रिकालीन कर्फ्यू और धारा 144 लागू करने का आदेश जारी किया था। जिसमें आंशिक बदलाव करते हुए कलेक्टर ने रात्रिकालीन कर्फ़्यू को हटाया कर यह आदेश वापस ले लिया है, जबकि धारा 144 के आदेश को बरकरार रखा है। बता दें मंगलवार को दोपहर में कलेक्टर ने 4 बिंदुओं को आधार बनाते हुए है। रात को कर्फ़्यू लगाने और धारा 144 लागू करने का आदेश जारी किया था। लेकिन देर शाम संशोधित आदेश जारी किया है। इस आदेश के बाद जिले की जनता ने एक बार फिर कोरोना की सख्ती से राहत की सांस ली है। महाराष्ट्र में कोरोना के केस तेजी से बढ़ने से सरकार और प्रशासन ने एक बार फिर अलर्ट जारी कर दिया है। कोरोना के संक्रमण से बचाव के उपाय अपनाने के साथ ही एहतियातन प्रशासन ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है। कलेक्टर दीपक आर्य ने कोविड 19 से सुरक्षा के उपाय अपनाने के साथ कर्फ्यू का सख्ती से पालन कराने के निर्देश जारी कर दिए हैं। बाहरी व्यक्ति के प्रवेश को लेकर भी पूर्व की तरह सतर्कता बरतने की कार्रवाई जा रही है।

ये दिए निर्देश

– जिले की संपूर्ण राजस्व सीमाओं में 5 या उससे अधिक लोग एक जगह एकत्रित नहीं होंगे। ऐसा पाए जाने पर संबंधित के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई जाएगी।

– धारा 144 का पालन कर भीड़ और जमाव को पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है।

– कोरोना के संक्रमण से बचाव और सुरक्षा की दृष्टि से कोविड 19 की गाइड-लाइन का पालन कराने पर जोर दिया जा रहा है। व्यापारी,आमजन को शारीरिक दूरी का पालन करने और घरों से बाहर निकलने पर अनिवार्य रूप से मास्क लगाने के निर्देश जारी किए गए हैं।

बालाघाट जिले में रात से हो रही बारिश, कैपों में रखी धान पर बढ़ा खतरा
बालाघाट जिले में रात से हो रही बारिश, कैपों में रखी धान पर बढ़ा खतरा
यह भी पढ़ें
– किसी भी प्रकार के सार्वजनिक आयोजन व मेले के लिए अनुविभागीय दंडाधिकारी की अनुमति लेनी होगी।

कोरोना के संक्रमण बचाव के लिए एहतियातन जिले में धारा 144 लागू की गई है। साथ कोविड 19 की गाइड-लाइन का पालन करने निर्देश जारी किए गए हैं। – दीपक आर्य,कलेक्टर बालाघाट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here