नई दिल्ली। वायुसेना दिवस पर मंगलवार को गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर स्वदेशी युद्धक विमान तेजस ने जहां अपने करतबों से सबको चौंकाया। वहीं सबसे खतरनाक लड़ाकू हेलीकॉप्टर अपाचे ने अपनी गर्जना से लोगों का दिल जीत लिया। इसके साथ ही चिनूक ने भी अपना दमखम दिखाया।
अपाचे
08 अपाचे हेलीकॉप्टर वायुसेना के पास हैं
14 अपाचे मार्च 2020 तक आएंगे
ताकत
280 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार, 550 किलोमीटर रेंज
3 घंटे लगातार उड़ान, 16 एंटीटैंक मिसाइल छोड़ने की क्षमता
128 लक्ष्यों पर एक मिनट में निशाना लगाने में सक्षम है
1,200 गोलियां भरी जा सकती हैं इसमें लगी राइफल में एक बार में
02 पायलट होना जरूरी है हेलिकॉप्टर को उड़ाने के लिए
ओसामा बिन लादेन को पाक में घुसकर मार गिराने में इस्तेमाल हुआ

चिनूक
06 हेलीकॉप्टर हैं अभी देश में
09 और हेलीकॉप्टर अगले साल मिलेंगे
ताकत
कश्मीर, अरुणाचल जैसे दुर्गम इलाकों में हथियारों को ले जाने में मदद मिलेगी
02 रोटर इंजन वाला हेलीकॉप्टर बहुत तेजी से उड़ान भरने में सक्षम है
यह हेलीकॉप्टर छोटे हेलीपैड और घनी घाटियों में भी उतर सकता है
11 टन तक का भार उठा सकता है चिनूक हेलीकॉप्टर
19 देशों की सेनाएं करती हैं इस हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल
प्राकृतिक आपदा के दौरान लोगों को सुरक्षित स्थानों में ले जाने में मदद मिलेगी
तेजस
123 हल्के लड़ाकू विमान तेजस मार्क-1 को बेड़े में शामिल कर लिया गया है
वायुसेना ने अब 200 तेजस मार्क-2 को शामिल करने करने की तत्परता दिखाई है
ताकत
3000 किलोमीटर की दूरी तय करता है एक बार में तेजस
2200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार है हल्के वजन वाले लड़ाकू विमान की
10 हजार किलोग्राम का हो जाता है हथियारों से पूरी तरह लैस होने पर ये
50 हजार फीट की ऊंचाई पर उड़ाने भरेन में सक्षम है तेजस लड़ाकू विमान
01 पायलट बैठ सकता है सिर्फ एक इंजन वाले तेजस विमान में
लेजर गाइडेट मिसाइल, रॉकेट और बम से लैस है तेजस लड़ाकू विमान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here