नई दिल्ली। पीएम मोदी ने एक न्यूज चैनल के समिट में कहा है कि भारत पारदर्शी बनने वाले बहुत कम देशों में से एक बन गया है। करदाता का चार्टर जो करदाताओं के अधिकारों को स्पष्ट रूप से परिभाषित करेगा। मैं विश्वास दिलता हूं कि टैक्स उत्पीड़न हमारे देश में अतीत की बात होगी। पिछले पांच साल में देश में 1.5 करोड़ से ज्यादा करों की ब्रिकी हुई है। तीन करोड़ से ज्यादा भारतीय बिजनेस के काम से या घूमने के लिए विदेश गए हैं। लेकिन स्थिति ये है कि 130 करोड़ से ज्यादा के हमारे देश में सिर्फ 1.5 करोड़ लोग ही इनकम टैक्स देते हैं। जब बहुत सारे लोग टैक्स नहीं देते, टैक्स न देने के तरीके खोज लेते हैं, तो इसका भार उन लोगों पर पड़ता है, जो ईमानदारी से टैक्स चुकाते हैं। इसलिए, मैं आज प्रत्येक भारतीय से इस विषय में आत्ममंथन करने का आग्रह करूंगा। क्या उन्हें ये स्थिति स्वीकार है? पीएम मोदी ने आगे कहा कि मैं आज इस चैनल मंच से, सभी देशवासियों से ये आग्रह करूंगा कि देश के लिए अपना जीवन समर्पित करने वालों को याद करते हुए एक प्रण लें, संकल्प लें। देश के उन महान वीर बेटे-बेटियों को याद करते हुए ये प्रण लें कि वो ईमानदारी से जो टैक्स बनता है उसे देंगे। पीएम ने समृद्ध भारत के निर्माण में मीडिया जगत से अपनी भूमिका का विस्तार करने को कहा : मेरा मीडिया जगत से भी एक निवेदन है। स्वतंत्र भारत के निर्माण में मीडिया की बहुत बड़ी भूमिका रही है। अब समृद्ध भारत के निर्माण में भी मीडिया को अपनी भूमिका का विस्तार करना चाहिए। एक नागरिक के तौर पर देश हमसे जिन कर्तव्यों को निभाने की अपेक्षा करता है, वो जब पूरे होते हैं, तो देश को भी नई ताकत और नई ऊर्जा मिलती है। यही नई ऊर्जा, नई ताकत, भारत को इस दशक में भी नई ऊंचाइयों पर ले जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here