नई दिल्ली : मध्य प्रदेश के भोपाल में शुक्रवार को पद्मश्री रमाकांत गुंदेचा का निधन हो गया. वह ट्रेन से पुणे जा रहे थे. रास्ते में उन्हें हार्ट अटैक आ गया. सूचना पर पहुंची रेलवे पुलिस रमाकांत गुंदेचा को अस्पताल ले जा रही थी, तभी उनका रास्ते में ही निधन हो गया. बता दें कि रमाकांत गुंदेचा को ध्रुपद गायक में पद्मश्री मिला था. ध्रुपद गायक पद्मश्री पं. उमाकांत और रमाकांत दोनों भाई हैं. दोनों ने अपने ध्रुपद गायक से दुनिया में अपनी एक अलग छाप छोड़ी है. भोपाल के गुंदेचा बंधुओं ने ध्रुपद गायन से डागर घराने की परंपरा को जीवंत किया. साल 2012 में उमाकांत गुंदेचा और रमाकांत गुंदेचा को ध्रुपद में विशेष योगदान के लिए पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है. उमाकांत गुंदेचा और रमाकांत गुंदेचा ने ध्रुपद गायकी में देश-विदेश में एक नई मिसाल खड़ी कर दी है. रमाकांत गुंदेचा के निधन को देश को बहुत बड़ी क्षति हुई है. पुणे में निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को भोपाल लाया जा रहा है. बताया जा रहा है कि उनके घर भोपाल से शनिवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here