संदीप मेंटल और उसके दोस्त पवन की हत्या 2 मई को नजफगढ इलाके में कर दी गई थी. उसके बाद से संदीप मेंटल गैंग को उसका भाई सोनू चला रहा था. पुलिस का कहना है कि संदीप मेंटल के भाई सोनू को शक था कि राजीव नाम के शख्स ने संदीप मेंटल की हत्या करवाई है और उसे इसके लिए कमलेश ने ही उकसाया था.

दिल्ली पुलिस ने 10 दिसम्बर को द्वारका में हुए एक महिला के कत्ल के मामले में संदीप मेंटल गैंग के शार्प शूटर को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक 10 दिसम्बर की सुबह दस बजे कपिल मलिक, उसके एक दोस्त और एक नाबालिग ने घर में घुस कर कमलेश नाम की एक महिला को 6 गोलियां मारी थी. कमलेश की मौके पर ही मौत हो गई थी. कमलेश पर उसी के पति का कत्ल का आरोप है. इस केस में कमलेश 3 साल तक जेल में रहकर आई थी.

कमलेश की हत्या के सभी आरोपी संदीप मेंटल गैंग के शार्प शूटर बताए जा रहे हैं. संदीप मेंटल और उसके दोस्त पवन की हत्या 2 मई को नजफगढ़ इलाके में कर दी गई थी. उसके बाद से संदीप मेंटल गैंग को उसका भाई सोनू चला रहा था. पुलिस का कहना है कि संदीप मेंटल के भाई सोनू को शक था कि राजीव नाम के शख्स ने संदीप मेंटल की हत्या करवाई है और उसे इसके लिए कमलेश ने ही उकसाया था.

इसके बाद से ही सेंदीप मेंटल के शूटर कमलेश की हत्या करने की फिराक में लगे थे. पुलिस को इस मामले में अभी संदीप के भाई और एक दूसरे शूटर की तलाश है. 8 महीने में हुए इन तीन कत्ल के पीछे 8 फ्लैट बताए जा रहे हैं, जो कभी संदीप मेंटल ने बनवाए थे. इन्हीं पर कब्जे को लेकर पहले संदीप और पवन की हत्या हुई और फिर कमलेश की. पुलिस का कहना है कि वो इस केस से जुड़े सभी लोगों की तलाश में कर रही है ताकि इस गैंगवार को रोका जा सके.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here