छिंदवाड़ा। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शुक्रवार को छिंदवाड़ा मेडिकल कॉलेज का निरीक्षण कर पहले डीन डॉ. एचकेटी रजा की स्मृति में ऑडिटोरियम का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि जिले की स्वास्थ्य सुविधाएं उच्च स्तर की बनाने का जो प्रयास छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज की शुरुआत कर किया गया है, उसका लाभ जिले के साथ ही प्रदेश की जनता को मिल रहा है। पहले जिले के मरीजों को उपचार कराने नागपुर जाना पड़ता था, लेकिन वर्तमान में स्थितियां बदल गई हैं। अब नागपुर के मरीज छिंदवाड़ा उपचार कराने आएंगे। उन्होंने कहा कि लगभग पांच वर्ष पहले मैंने छिंदवाड़ा में मेडिकल कॉलेज का सपना देखा था। बड़ी खुशी है कि यह सपना अब साकार होने जा रहा है। इस संस्थान को वास्तविक अर्थों में स्थापित करने और आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी अब फैकल्टी और स्टॉफ की है। उन्होंने कहा कि शुरुआत से ही अनुशासित वर्क कल्चर और मानक स्तर की गुणवत्ता सुनिश्चित की जाए, ताकि सभी के समक्ष छिंदवाड़ा इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज को उत्कृष्टता के उदाहरण के रूप में प्रस्तुत किया जा सके। सीएम ने डॉ. रजा को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि संस्थान को प्रारंभ करने में उनका समर्पण भाव और उनकी सोच काबिले तारीफ थी। अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने संस्थान को गुणवत्तापूर्ण एवं मानक स्तर तक पहुंचाने की दिशा में हर संभव प्रयास किए। हम सभी को मिलकर उनकी इस सोच और मंशा को आगे ले जाना है। सीएम ने वर्तमान डीन डॉ.रामटेके को फैकल्टी और स्टॉफ की भर्ती में गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता नहीं करने के सख्त निर्देश देते हुए कहा कि जब फैकल्टी का स्तर अच्छा होगा, तभी वे विद्यार्थियों को उच्च स्तर की शिक्षा दे सकेंगे। सीएम ने संस्थान की प्रशासकीय समिति की बैठक भी ली। जिसमें उन्होंने कॉलेज परिसर की सफाई और सौंदर्यीकरण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि मरीजों को मानक स्तर की उपचार सुविधाएं दी जाएं। संस्थान परिसर एवं जिला अस्पताल के लिए हॉर्टिकल्चर प्लान तैयार किया जाए। उन्होंने जिला अस्पताल के लिए स्वीकृत कार्य भी शीघ्र प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here