भोपाल। भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से कांग्रेस नेता दिग्विजयसिंह पर निगरानी पर रखे जाने की मांग की है। पार्टी ने इस संबंध में एक पत्र मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को सौंपा है।
भाजपा की निर्वाचन आयोग संबंधी समिति के अध्यक्ष श्री शांतिलाल लोढ़ा ने पत्र में कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह के संबंध में एक वेबसाइट पर समाचार प्रकाशित किया गया है, जिसमें भीमा-कोरेगांव हिंसा के मामले में गिरफ्तार किए गए लोगों के पास से बरामद पत्र में श्री दिग्विजयसिंह का फोन नंबर मिलने की बात कही गई है। इस संबंध में पुणे पुलिस श्री दिग्विजयसिंह से पूछताछ भी कर सकती है। पत्र में कहा गया है कि इस खुलासे से दिग्विजयसिंह संदेह के घेरे में आ गए हैं इसलिए उन पर निगरानी रखी जानी चाहिए, ताकि वे निर्वाचन प्रक्रिया में किसी तरह का व्यवधान पैदा न कर सकें। पत्र के साथ वेबसाइट की लिंक भी भेजी गई है।
कर्मचारियों का मनोबल तोड़ रहे कमलनाथ, भाजपा ने की शिकायत
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ द्वारा निर्वाचन कार्य में लगे कर्मचारियों का मनोबल तोड़ने वाला वक्तव्य दिये जाने की शिकायत निर्वाचन आयोग से की है। पार्टी द्वारा सौंपे गए शिकायती पत्र के साथ एक समाचार पत्र की कटिंग भी दी गई है।
भाजपा की निर्वाचन आयोग संबंधी समिति के अध्यक्ष श्री शांतिलाल लोढा द्वारा की गई शिकायत में कहा गया है कि कांग्रेस नेता कमलनाथ ने बुधनी में सभा को संबोधित करते हुए कर्मचारियों पर गुप्त रूप से भाजपा के लिए काम करने का आरोप लगाया था। इसके साथ ही कांग्रेस की सरकार बनने पर परिणाम झेलने की चेतावनी भी दी। पत्र में कहा गया है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के इस वक्तव्य से उन कर्मचारियों का मनोबल टूट सकता है, जो निर्वाचन कार्य में लगे हैं। अतः आयोग द्वारा इस संबंध में एक विज्ञप्ति जारी की जानी चाहिए, ताकि निर्वाचन कार्य लगे कर्मचारियों का मनोबल बना रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here