भोपाल भाजपा सरकार के लिए प्रीति रघुवंशी आत्महत्या कांड एक चिंगारी है जो पिछले 15 साल के कुशासन और अन्याय से प्रदेश को मुक्त करेगी। प्रीति रघुवंशी के परिवार को न्याय मिले दबंगों को सजा मिले इसके लिए कांग्रेस पार्टी ने सदन से सड़क तक संघर्ष छेड़ दिया है। दुःखद है कि कहने को मामा राज है लेकिन भांजी न्याय के लिए तरस रही हैं 19 दिन बाद भी प्रीति रघुवंशी मौत के जिम्मेदार मंत्री रामपाल सिंह उनके बेटे गिरजेश और परिजनों के खिलाफ दबंगों और दागियों की भाजपा सरकार ने एफआईआर दर्ज नहीं की। छींद के सिद्ध मंदिर में भगवान श्रीराम और हनुमान जी के पूजा अर्चना करने के बाद आज उदयपुरा से कांग्रेस पार्टी की न्याय यात्रा की शुरूआत हुई। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अरूण यादव और नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह की अगुवाई में शुरू हुई यात्रा को भारी समर्थन के बीच प्रीति रघुवंशी के भाई श्री मनजीत सिंह रघुवंशी ने कहा हमसे सब कुछ पूछ लिया लेकिन गुनहगार की तरफ आंख उठाकर भी किसी ने नहीं देखा। मंत्री रामपाल की पुत्रवधु प्रीति रघुवंशी के गृह नगर में मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री अरूण यादव ने कहा कि प्रीति रघुवंशी को न्याय मिले गुनहगार मंत्री और उनके पुत्र को सजा मिले, इसके लिए कांग्रेस ने सदन से लेकर सड़क तक लड़ाई लड़ने का अभियान छेड़ा है। उन्होंने कहा कि यह पहली घटना नहीं है, जब भाजपा के लोग किसी आपराधिक गतिविधि में शामिल हो और कोई कार्यवाही न हो। उन्होंने मीडिया को धन्यवाद दिया कि उन्होंने प्रीति रघुवंशी आत्महत्या कांड को उदयपुरा से लेकर दिल्ली तक आवाज दी और शिवराज सरकार के पक्षपात को उजागर किया। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में मंत्री जनसेवक नहीं अपने क्षेत्र में आतंक के पर्याय बन चुके हैं। इसका उदाहरण रायसेन जिला है। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश का हर नागरिक अपने को ढगा महसूस कर रहा है। श्री यादव ने कहा कि प्रीति रघुवंशी को न्याय दिलाने के लिए शुरू की गई यात्रा नौजवान, मजदूरों और इस प्रदेश के अन्नदाता किसानों को भी न्याय दिलाने में तब्दील होगी और प्रदेश के हर कोने पर यह यात्रा निकाली जाएगी और भाजपा सरकार के कारनामों को उजागर किया जाएगा। नेता प्रतिपक्ष श्री अजय सिंह ने कहा कि प्रीति रघुवंशी आत्महत्या कांड से जो एक चिंगारी सुलगी है वह 2018 के चुनाव में शिवराज सरकार के कुशासन से मुक्ति दिलाएगी। उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में चाहे प्रीति रघुवंशी हो, चाहे इस प्रदेश की महिलाएं हो, किसान हो या नौजवान हो, या कर्मचारी हो सब पीड़ित हैं और इस सरकार के अन्याय को सह रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिस प्रदेश का मुख्यमंत्री अपने को बहनों का भाई, बेटियों का मामा कहता हो उसी प्रदेश में बलात्कार में मध्यप्रदेश पूरे देश में नंबर वन है, कुपोषण में नंबर वन है। श्री सिंह ने कहा कि इस मामले में मुख्यमंत्री के दिल में कुछ काला है। यही कारण है कि वे इस मुद्दे पर सदन पर दो दिन तक हंगामा चलता रहा। वे दो दिन तक विधानसभा में अपने केबिन में बैठे रहे लेकिन सदन के अंदर विपक्ष का सामना करने की हिम्मत नहीं जुटा पाए। उन्होंने कहा कि दो प्रकार के कानून शिवराज ने प्रदेश में लागू कर रखे हैं। एक है मंत्री रामपाल सिंह जो प्रीति रघुवंशी को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने के दोषी हैं, एक मंत्री लाल सिंह आर्य हैं, जो 302के आरोपी हैं। एक मंत्री नरोत्तम मिश्रा हैं, जो चुनाव आयोग द्वारा अयोग्य घोषित कर दिए गए हैं लेकिन इन पर कोई कानून लागू नहीं होता और सरकार ने पूरा संरक्षण दे रखा है। इसमें कमी रह गई थी तो एक फरार भाजपा विधायक जालमसिंह पटेल को राज्यमंत्री बना दिया। दूसरी ओर कोई छोटा-मोटा भी अपराध हो जाए तो आम आदमी पर यह सरकार कठोर कार्यवाही करती है। श्री सिंह ने कहा कि यह पाखंडी सरकार है। रायसेन जिले के दो लोग मुख्यमंत्री के बहुत खास है एक नदी के उस पर अवैध रेत उत्खनन के बादशाह विजय पाल सिंह और नदी के इस पार रामपाल सिंह जो प्रीति रघुवंशी के आत्महत्या के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि दिन में हर-हर नर्मदे और रात भर डंपर चले। यह है शिवराज सरकार का पाखंड।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here