नई दिल्ली : पुलवामा हमले के बाद दुनियाभर से मिल रहे समर्थन के बीच सऊदी अरब ने भी आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में भारत का साथ देने का वादा किया है। भारत आए सऊदी अरब के प्रिंस क्राउन मोहम्मद बिन सलमान अब्दुल अजीज अल-सऊद ने कहा, आतंकवाद और अतिवाद दोनों देशों की साझा चिंता है। आतंक के हरेक रूप के खिलाफ जंग छेड़ने की जरूरत है। हालांकि प्रिंस ने न तो पुलवामा हमले की निंदा की और न शहीद जवानों के परिवार के प्रति संवेदना जताई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत के बाद जारी साझा बयान में भी सीधे तौर पर पाकिस्तान का जिक्र नहीं है। बुधवार को प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत के बाद साझा बयान में क्राउन प्रिंस ने भारत से सदियों पुराने संबंधों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री मोदी को ‘बड़ा भाई’ बताया। उन्होंने कहा, आतंकवाद से लड़ने में भारत की हरसंभव मदद करेंगे। खुफिया जानकारियां भी साझा करेंगे। दोनों देश मिलकर उन देशों पर दबाव बनाएंगे जो किसी भी रूप में आतंक का समर्थन कर रहे हैं। इससे पहले, प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, पुलवामा हमला आतंकवाद का क्रूर रूप है। भारत और सऊदी अरब उन ताकतों के खिलाफ काम करेंगे जो आतंक को पोषित करते हैं। आतंक के सभी साधनों का अंत और इसे समर्थन देने वालों को सबक सिखाना जरूरी है। इससे पहले दोनों देशों ने पुलवामा हमले के मद्देनजर सामरिक योजनाओं पर गहरी मंत्रणा की। ट्रम्प ने कहा, पुलवामा हमला ‘भयावह’ : वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पुलवामा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए आतंकी हमले को ‘भयावह’बताया है। उन्होंने कहा, हमें इस बारे में कई जानकारियां और रिपोर्ट मिली हैं, जल्द ही विस्तृत बयान दिया जाएगा। विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने पाक को पुलवामा हमले के जिम्मेदारों को सजा देने के लिए कहा है। अमेरिका ने आतंकियों को पनाह देने और उनकी मदद करने से पाक और चीन को बाज आने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here