कांग्रेस की तर्ज़ पर भजपा कर रही समन्वय की कोशिश

भोपाल। कांग्रेस की तरह अब भाजपा में भी समन्वय बैठकें शुरू हो गई हैं। जिस तरह कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह गली गली घूमकर पार्टी के बिखरे नेताओं को एक सूत्र में पिरोने की कोशिश कर रहे हैं, उसी तरह भाजपा ने भी अपने मंत्रियों और वरिष्ठ पदाधिकारियों को समन्वय के काम में लगा दिया है।

ये नेता अलग-अलग जिलों में बैठकें ले रहे हैं। इस बैठक में जिले के विधायक, सांसद, जिला अध्यक्ष, पदाधिकारी, मोर्चा पदाधिकारियों के साथ साथ पूर्व विधायकों, वरिष्ठ नेताओं और मीसाबंदियों को भी बुलाया जा रहा है। इस बैठक के जरिए जनप्रतिनिधियों के साथ संगठन और पूर्व विधायकों के मनभेद और मतभेद को दूर करने की कोशिश की जा रही है।

– विधायक और दावेदार में कटुता दूर करने की कोशिश इन समन्वय बैठकों के जरिए मौजूदा विधायक और टिकट के दावेदारों के बीच पनप रही कटुता को दूर करने की कवायद की जा रही है।

हर सीट पर भाजपा के पास दस से ज्यादा एेसे दावेदार हैं जो गंभीरता से टिकट की मांग कर रहे हैं, एेसे में विधायक और उनके बीच की खाई बढ़ती जा रही है। समन्वय बैठकों के जरिए नेता इस खाई को पाटने का काम कर रहे हैं ताकि टिकट मिलने के बाद भितरघात की स्थिति न पैदा हो। पूर्व विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की नाराजगी भी दूर करने की कोशिश की जा रही है।

– समन्वय के जरिए संगठन का फीडबैक समन्वय बैठकों के जरिए जिले में संगठन का फीडबैक भी लिया जा रहा है। जिले से बूथ तक की टीमों के कामकाज की समीक्षा भी की जा रही है। इस बात के निर्देश भी दिए जा रहे हैं कि विधायकों को संगठन के नेताओं को तवज्जो देना पड़ेगा, संगठन के हर काम में उनका शामिल होना जरुरी है।

56 संगठनात्मक जिलों में लगाए 46 नेता प्रदेश में भाजपा के ५६ संगठनात्मक जिलों के लिए पार्टी ने 23 टीमें बनाई हैं जिनमें 46 नेताओं को जिम्मेदारी दी गई है। इन नेताओं में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर,थावरचंद गेहलोत समेत प्रदेश के मंत्री और संगठन के बड़े नेताओं को शामिल किया गया है। इनको अलग-अलग जिले भी बांटे गए हैं,इन जिलों में ये समन्वय बैठकें शुरू हो गई हैं।

चुनाव के मद्देनजर जिला संगठन को गति देने के लिए इन बैठकों का आयेाजन किया जा रहा है, इस बैठकों के जरिए जिले का फीडबैक लिया जा रहा है और नेताओं के आपसी मतभेद भी दूर किए जा रहे हैं।

– प्रदीप लारिया, प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here