नई दिल्ली: कर्नाटक दौरे पर गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के प्लेन की इमरजेंसी लैंडिंग का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। कांग्रेस ने घटना के पीछे साजिश का आरोप लगाया है तो डीजीसीए ने सफाई दी है कि हादसा प्लेन में तकनीकी गड़बड़ी की वजह से आया। बता दें कि हवा में उड़ते हुए अचानक प्लेन में गड़बड़ी हुई और प्लेन हवा में ही गोते खाने लगा और प्लेन को इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी। कांग्रेस ने विमान में तकनीकी गड़बड़ी के पीछे साजिश की आशंका जताई है।फ्लाइट सुबह 9 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली से उड़ान भरी थी और उसे 11.45 बजे हुबली पहुंचना था। विमान में राहुल गांधी के अलावा कौशल विद्यार्थी, एसपीजी ऑफिसर राहुल गौतम और राहुल रवि सवार थे लेकिन तभी 10 बजकर 45 मिनट पर एयरक्राफ्ट अचानक से लेफ्ट साइड की तरफ झुक गया और तेज आवाज के साथ विमान नीचे की ओर गिरने लगा, प्लेन में भयानक हलचल होने लगी। राहुल गांधी कर्नाटक के दो दिवसीय दौरे पर गुरुवार को हुबली पहुंचे हैं। राहुल गांधी जिस एयरक्राफ्ट में सवार थे, उसका नाम VT-AVH फॉल्कन 2000 है, जो रेलीगेयर एविएशन लिमिटेड का है। इसका रजिस्ट्रेशन नेहरू प्लेस, दिल्ली में 04-02-2011 का है। आरोप है कि मौसम बिलकुल साफ था और धूप खिली हुई थी। यात्रियों के मुताबिक हवा भी नहीं चल रही थी। इस फ्लाइट में राहुल गांधी के साथ यात्रा कर रहे कौशल विद्यार्थी ने कर्नाटक के डीजी और आईजी को चिट्ठी लिखी है जिसमें उन्होंने इसे ‘अनएक्सप्लेनेड टेक्निकल एरर’ बताया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here