भोपाल। मध्‍य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिम) यानि एमपी बोर्ड की 12वीं कक्षा का परीक्षा परिणाम 29 जुलाई को घोषित किया जाएगा। माध्यमिक शिक्षा मंडल 12वीं का परीक्षा परिणाम ऑनलाइन ही घोषित करेगा। इस बार प्रावीण्य सूची जारी नहीं की जाएगी। जानकारी के अनसार कक्षा 12वीं की अंकसूची में कक्षा 10 वीं के पांच मुख्य विषयों के आधार पर नंबर दिए जा एंगे। 10वीं के सभी विषयों से 12वीं के विषयों की मैपिंग कर रिजल्ट बनाया गया है। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने हायर सेकेण्डरी (12वीं) परीक्षा, हायर सेकेण्डरी व्यवसायिक सर्टिफिकेट परीक्षा और हायर सेकेण्डरी (अंध, मूक बधिर) श्रेणी के परीक्षा परिणाम विद्यार्थी और अभिभावक के लिए विभिन्न पोर्टलों के माध्यम से परीक्षा परिणाम जानने की सुविधा उपलब्ध करायी है। विद्यार्थी और अभिभावक एमपी बोर्ड के पोर्टल https://mpbse.mponline.gov.in, www.mpbse. nic.in, www.mpresults.nic.in पर परीक्षा परिणाम देख सकेंगे। साढ़े सात लाख विद्यार्थी : उल्‍लेखनीय है कि इस साल 12वीं की परीक्षा में साढ़े सात लाख विद्यार्थी शामिल हुए थे। वर्ष 2020 में 12वीं में 69 फीसद और 2019 में 72.37 प्रतिशत परीक्षा परिणाम रहा था। अधिकारियों ने बताया कि 10वीं में विज्ञान विषय के आधार पर 12वीं में सर्वाधिक विषयों में अंक दिए जाएंगे। 10वीं में विज्ञान के नंबरों के आधार पर 12वीं के फिजिक्स, केमेस्ट्री, बायोलॉजी, इंफारमेशन प्रैक्टिसेस, एग्रीकल्चर, होम साइंस, बायो टेक्नालाजी, फिजिकल एजुकेशन, होम मैनेजमेंट, एलीमेंट आफ साइंस समेत अन्य विषयों में नंबर मिलेंगे। सबसे अधिक अंकों के विषयों के अतिरिक्त छठवां विषय : गणित के आधार पर 12वीं में गणित व बुक कीपिंग व एकाउंटेंसी में नंबर दिए जाएंगे। साथ ही बेस्ट आफ फाइव पद्धति के अनुसार 10वीं के सबसे अधिक अंकों के विषयों के अतिरिक्त छठवां विषय 12वीं के जिस विषय से मैप किया जाएगा उसमें 12वीं के तृतीय भाषा विषय के अंक प्रदान किए जाएंगे। जानकारी के अनसार नतीजे से असंतुष्ट विद्यार्थी के लिए एक से 25 सितंबर के बीच विशेष परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसके लिए एक से दस अगस्त के बीच ऑनलाइन पंजीयन कराना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here