कड़ेनार, नारायणपुर (छत्तीसगढ़) । छत्तीसगढ़ पुलिस के जिला रिजर्व गार्ड (डीआरजी) के पांच जवान मंगलवार को नारायणपुर जिले में नक्सलियों द्वारा किए गए एक आईईडी विस्फोट में शहीद हो गए। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि इस हमले में पांच डीआरजी कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं और 10 कर्मियों को मामूली चोटें आई हैं।
नक्सलियों ने सुरक्षाबलों की बस को निशाना बनाया है। सुरक्षाकर्मियों की बस को टक्कर मारते हुए शक्तिशाली इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) ब्लास्ट किया गया है। यह हमला उस समय हुआ, जब 27 डीआरजी कर्मी कड़ेनार और कन्हरगांव के बीच यात्रा कर रहे थे। आईटीबीपी ने एक बयान में कहा, “आईटीबीपी की 45वीं बटालियन के जवान घायलों को निकाल रहे हैं।” यह हमला पांच नक्सलवादियों को गिरफ्तार करने के एक दिन बाद सामने आया है। गिरफ्तार नक्सलियों में 2015 में अपहरण के बाद चार पुलिसकर्मियों की हत्या में कथित रूप से शामिल आरोपी भी था, जिन्हें राज्य के बीजापुर जिले में दो स्थानों से गिरफ्तार किया गया था। पांच में से चार को नेलसनर थाना क्षेत्र के अंतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग-63 के पास दबोचा गया था। इनमें एक महिला भी शामिल है। इसके अलावा कुटरू थाना क्षेत्र के अंतर्गत चिंगर गांव के पास एक और कैडर को गिरफ्तार किया गया है। रविवार को नक्सलवादियों को पकड़ने के लिए जिला बल और डीआरजी की अलग-अलग टीमें इन ऑपरेशनों में शामिल थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here